क्यारी खाम में इन दिनों तितली त्यार की धूम

 क्यारी खाम में इन दिनों तितली त्यार की धूम
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

नैनीताल : रामनगर के क्यारी खाम में 17 सितम्बर से तितली त्यार की धूम है। हालांकि यह त्यार यहां 2 अक्टूबर तक मनाया जाएगा। लेकिन गुरुवार को अलाया रिसोर्ट में इसका समापन कार्यक्रम आयोजित किया गया। यह त्यार तिलतलियो के प्रति जनता को जागरूक करने के लिए आयोजित किया जा रहा है। बीते साल से मनाए जा रहे इस त्यार को इस बार कुछ बड़े स्केल पर आयोजित किया गया। इस बार इस त्यार में तितली को जहां रोजगार से जोड़ने पर जोर दिया गया। वहीं तितली को बचाने के लिये अपने घरों के आसपास ऐसे पौधे लगाने पर जोर दिया गया जिनमे तितलियां आकृषित होते हैं। इसके आयोजको में शामिल मनीष कुमार की यदि माने तो इस बार के आयोजन में देश के कई शहरों से तितली प्रेमी यहां आये। देश भर में अब इस त्यार को लोग जानने लगे हैं। जिससे तितली के प्रजातियों के संरक्षण में मदद मिलेगी।

तितली त्यार में कॉर्बेट लैंडस्केप में तितलियों के प्रजातियों की भी गणना की गई है। संजय छिमवाल बताते हैं कि यहां करीब डेढ़ सौ प्रजाति की तितलियां पाई जाती हैं। इतने कम समय मे भी यहां तितलियों की करीब 75 प्रजातियां रिकॉर्ड की गई हैं। जो यहां के स्वस्थ पर्यावरण का संकेत है। उधर प्रकृति प्रेमी गौरव खुल्बे कहते हैं कि तितलियां अद्भुद हैं। जिन्हें देखना किसी को भी अच्छा लगता है। इस तरह के आयोजन से लोग जागरूक होते हैं। कॉर्बेट में लोगो का जो ध्यान टाइगर की ओर है, इस तरह के आयोजनों से उन्हें यह भी पता लगता है कि यहां की बायोडायवर्सिटी कितनी रिच है।

उधर रिसोर्ट से जुड़े गौरव का कहना है कि तितली की थीम उन्हें मनीष कुमार जी ने समझाई। जो उन्हें बहुत पसंद आई और उन्होने इस त्यार को मनाने का मन बना लिया। वह यह भी कहते हैं कि इस आयोजन का मकसद टूरिस्ट को यह बताना भी है कि कॉर्बेट बेशक टाइगर के लिए जाना जाता है। लेकिन यहां तितली भी एक ऐसा कीट है जो पर्यावरण के लिए उतना ही जरूरी है, जितना टाइगर। दूसरी ओर रिसोर्ट के एमडी नवनीत धीराज कहते हैं कि वह क्यारी में ही एक बटरफ्लाई पार्क जल्द बनाने जा रहे हैं। कॉर्बेट टाइगर और यहां की बर्ड्स के लिए जाना जाता है। अब लोग कॉर्बेट को तितलियों के लिए भी जानेंगे। इस कार्यक्रम में छोटे छोटे बच्चों ने तितलियों पर कई कार्यक्रम प्रस्तुत किये। जहां इस समारोह के मुख्य अतिथि स्थानीय विधायक दीवान सिंह बिष्ट और उनके साथ आये उनके प्रतिनिधि गणेश रावत भी बच्चो द्वारा प्रस्तुत इन कार्यक्रमो को देख मंत्रमुग्ध नजर आए। विधायक दीवान सिंह बिष्ट ने तितली संरक्षण के लिए आयोजित इस त्यार की भूरी भूरी प्रशंसा की।रामनगर के क्यारी खाम में 17 सितम्बर से तितली त्यार की धूम है। हालांकि यह त्यार यहां 2 अक्टूबर तक मनाया जाएगा। लेकिन गुरुवार को अलाया रिसोर्ट में इसका समापन कार्यक्रम आयोजित किया गया। यह त्यार तिलतलियो के प्रति जनता को जागरूक करने के लिए आयोजित किया जा रहा है। बीते साल से मनाए जा रहे इस त्यार को इस बार कुछ बड़े स्केल पर आयोजित किया गया। इस बार इस त्यार में तितली को जहां रोजगार से जोड़ने पर जोर दिया गया। वहीं तितली को बचाने के लिये अपने घरों के आसपास ऐसे पौधे लगाने पर जोर दिया गया जिनमे तितलियां आकृषित होते हैं। इसके आयोजको में शामिल मनीष कुमार की यदि माने तो इस बार के आयोजन में देश के कई शहरों से तितली प्रेमी यहां आये। देश भर में अब इस त्यार को लोग जानने लगे हैं। जिससे तितली के प्रजातियों के संरक्षण में मदद मिलेगी।
तितली त्यार में कॉर्बेट लैंडस्केप में तितलियों के प्रजातियों की भी गणना की गई है। संजय छिमवाल बताते हैं कि यहां करीब डेढ़ सौ प्रजाति की तितलियां पाई जाती हैं। इतने कम समय मे भी यहां तितलियों की करीब 75 प्रजातियां रिकॉर्ड की गई हैं। जो यहां के स्वस्थ पर्यावरण का संकेत है। उधर प्रकृति प्रेमी गौरव खुल्बे कहते हैं कि तितलियां अद्भुद हैं। जिन्हें देखना किसी को भी अच्छा लगता है। इस तरह के आयोजन से लोग जागरूक होते हैं। कॉर्बेट में लोगो का जो ध्यान टाइगर की ओर है, इस तरह के आयोजनों से उन्हें यह भी पता लगता है कि यहां की बायोडायवर्सिटी कितनी रिच है।
उधर रिसोर्ट से जुड़े गौरव का कहना है कि तितली की थीम उन्हें मनीष कुमार जी ने समझाई। जो उन्हें बहुत पसंद आई और उन्होने इस त्यार को मनाने का मन बना लिया। वह यह भी कहते हैं कि इस आयोजन का मकसद टूरिस्ट को यह बताना भी है कि कॉर्बेट बेशक टाइगर के लिए जाना जाता है। लेकिन यहां तितली भी एक ऐसा कीट है जो पर्यावरण के लिए उतना ही जरूरी है, जितना टाइगर। दूसरी ओर रिसोर्ट के एमडी नवनीत धीराज कहते हैं कि वह क्यारी में ही एक बटरफ्लाई पार्क जल्द बनाने जा रहे हैं। कॉर्बेट टाइगर और यहां की बर्ड्स के लिए जाना जाता है। अब लोग कॉर्बेट को तितलियों के लिए भी जानेंगे। इस कार्यक्रम में छोटे छोटे बच्चों ने तितलियों पर कई कार्यक्रम प्रस्तुत किये। जहां इस समारोह के मुख्य अतिथि स्थानीय विधायक दीवान सिंह बिष्ट और उनके साथ आये उनके प्रतिनिधि गणेश रावत भी बच्चो द्वारा प्रस्तुत इन कार्यक्रमो को देख मंत्रमुग्ध नजर आए। विधायक दीवान सिंह बिष्ट ने तितली संरक्षण के लिए आयोजित इस त्यार की भूरी भूरी प्रशंसा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!