माणा में बहुउदेशीय विधिक साक्षरता शिविर हुआ आयोजित

 माणा में बहुउदेशीय विधिक साक्षरता शिविर हुआ आयोजित
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

चमोली: राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, सर्वोच्च न्यायालय नई दिल्ली (नालसा) एवं उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण उच्च न्यायालय, नैनीताल के तत्वावधान में सीमांत गांव माणा के निकट गढवाल स्काउट के मैदान (बद्रीनाथ धाम) में बहुउदेशीय विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में मुख्य अतिथि सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ न्यायमूर्ति एवं राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष उदय उमेश ललित व उच्च न्यायालय नैनीताल के कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति व उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष एसके मिश्रा, सदस्य सचिव आरके खुल्बे, रजिस्ट्रार जनरल उत्तराखंड उच्च न्यायालय विवेक भारती शर्मा तथा जनपद न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष नरेन्द्र दत्त मौजूद रहे। बहुउदेशीय शिविर में विधिक जागरूकता के साथ-साथ केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी गई। शिविर में स्वास्थ्य, शिक्षा, समाज कल्याण, पर्यटन, कृषि, उद्यान, उद्योग, मत्स्य, पशुपालन, राजस्व आदि तमाम विभागों के स्टॉल पर जन समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करते हुए योजनाओं से लाभान्वित किया गया। गढवाल स्काउट एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा चिकित्सा परीक्षण करते हुए निरूशुल्क दवा वितरत की गई।
मुख्य अतिथि सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ न्यायमूर्ति एवं राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष उदय उमेश ललित का सीमांत गांव माणा पहुचने पर स्थानीय लोगों ने भोटिया (पौणा) नृत्य तथा संस्कृति महा विद्यालय के छात्रों ने स्वास्थि वाचन और गढवाल स्काउट ने मधुर बैंड की धुन के साथ भव्य स्वागत किया। स्थनीय विद्यालय की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए।
न्यायमूर्ति ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि विधिक सेवा प्राधिकरण का उदेश्य हर जरूरतमंद लोगों तक सुगमता से न्याय पहुंचाना है। इसी उदेश्य से राष्ट्रीय स्तर पर नालसा, राज्य स्तर पर सालसा, जिले स्तर पर विधिक सेवा प्राधिकरण का गठन किया गया है। ताकि हर नागरिक को सुगमता से न्याय मिल सके। उन्होंने कहा कि सभी नागरिकों को सवैंधानिक अधिकार और न्याय मिलना चाहिए। सीमांत क्षेत्रों में विधिक साक्षरता शिविर के माध्यम से जरूरतमंद लोगों तक न्याय पहुचाना उनकी प्राथमिकता है। इस दौरान मा.न्यायमूर्ति ने शिविर में लगे सरकारी विभागों के स्टालों का निरीक्षण करते हुए दिव्यांगजनों में बैशाखी, व्हील चियर और कंबल भी वितरित किए। वहीं राइका पांडुकेश्वर व बडागांव को स्पोर्ट्स किट प्रदान। इससे पूर्व न्यायाधीश ने बद्रीनाथ मंदिर में पूजा अर्चना करते हुए देश की खुशहाली की कामना की।
उच्च न्यायालय नैनीताल के कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति व उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष श्री एसके मिश्रा ने मुख्य अतिथि को रूद्राक्ष का पौधा, स्मृति चिन्ह और शाल भेंट कर उनका स्वागत किया।
जनपद न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र दत्त ने विधिक सेवाओं की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया।
शिविर का संचालन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सिविल जज (सी0डि0)ध्सचिव सिमरनजीत कौर द्वारा किया गया। शिविर में कानूनी अधिवक्तागण, पराविधिक कार्यकर्तागण, विभिन्न विभागों के अधिकारियों सहित बडी संख्या में स्थानीय जनता मौजूद थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!