सीडीओ ने चाइल्ड हेल्प लाइन के व्यापक प्रचार प्रसार के दिये निर्देश

 सीडीओ ने चाइल्ड हेल्प लाइन के व्यापक प्रचार प्रसार के दिये निर्देश
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

चमोली : मुख्य विकास अधिकारी वरूण चौधरी की अध्यक्षता में गुरूवार को विकास भवन में समेकित बाल सुरक्षा कार्यक्रम के अन्तर्गत जिला बाल सलाहकार बोर्ड एवं चाइल्ड हेल्पलाइन की समीक्षा बैठक हुई। जिसमें बाल संरक्षण प्रणाली को मजबूत बनाने, रेस्क्यू किए गए बच्चों की शिक्षा, विकास एवं देखभाल के लिए बेहतर कार्य करने और चाइल्ड हेल्प लाइन नंबर 1098 का व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए गए।

मुख्य विकास अधिकारी ने बाल कल्याण के क्षेत्र में कार्यरत सरकारी विभाग, स्वयं सेवी संस्थाएं एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं को बाल संरक्षण के लिए समर्पित भाव से कार्य करने की बात कही। ताकि बच्चों को उनके मूल अधिकार प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि सुदूरवर्ती क्षेत्रों तक चाइल्ड हेल्पलाइन की सुविधा पहुॅचाने के लिए ब्लाक स्तर से भी सहयोग लिया जाए। जिन बच्चों को मदद की आवश्यकता है, ऐसे बच्चों को चिन्हित करते हुए उनकी श्रेणीवार सूची उपलब्ध करें। ताकि संबधित विभाग या अन्य माध्यमों से बच्चों के हितों को संरक्षित किया जा सके। नशे में संलिप्त बच्चों की सही तरीके से काउंसलिंग की जाए। चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर का वृहद प्रचार प्रसार करें। संरक्षण में रखे गए बच्चों को पूरा सहयोग एवं सुरक्षा प्रदान करें।

हिमाद समिति की जिला समन्वय प्रभा रावत ने अवगत कराया कि चाइल्ड लाइन सेवा 1098 के तहत 0 से 18 वर्ष तक के गरीब, अनाथ, दिब्यांग, शोषण एवं हिंसा इत्यादि से पीडित बच्चों को सुरक्षा प्रदान की जा रही है। पिछले अक्टूबर से इस वर्ष सितंबर तक 105 मामले चिन्हित किए गए है। जिसमें चिकित्सा के 12, बाल श्रम के 01, भीख मांगने वाले बच्चे 10, उत्पीड़न व दुर्ब्यवहार के 04, बाल विवाह का 1, स्पांन्सरशिप के 71, लापता के 3 तथा नशा खोरी के 02 मामले शामिल है। चाइल्ड हेल्पलाइन द्वारा इन सभी मामलों में सुरक्षात्मक कार्रवाई की गई है। मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना में 127 बच्चों को लाभान्वित किया गया है। इसके अतिरिक्त 56 बच्चों को आर्थिक सहायता दी गई है।

बैठक में सीओ पुलिस नताशा सिंह, एसीएमओ डा.उमा रावत, डीपीओ संदीप कुमार, सीडब्लूसी अध्यक्ष हेमा भट्ट, हिमाद समिति के सचिव उमा शंकर बिष्ट, बाल संरक्षण अधिकारी प्रदीप रावत एवं समिति के अन्य सदस्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!